प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना 2022: पीएम ग्रामीण आवास योजना के तहत बन रहे घरों का करें निरीक्षण। यहां जानें।

भारत के ग्रामीण इलाकों में आज भी लाखों परिवार कच्चे मकान में रहते हैं। गांव में रहने वाले लोग गरीबी के कारण अपना पक्का मकान नहीं बना पाते हैं।

वे अपना खुद का पक्का घर बनाना चाहते हैं लेकिन आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण वे अपने पक्के घर का सपना पूरा नहीं कर पाते है और पूरी जिंदगी कच्चे मकान में बिता देते हैं।

इस योजना का मकसद साल 2022 तक पूरे देश में ग्रामीण इलाकों में रहने वाले उन सभी लोगों को पक्का मकान देना है जिनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है।

इसके साथ ही उन्हें पक्का शौचालय बनाने में भी मदद दी जाएगी। इस योजना के तहत केंद्र सरकार ने 2022 तक ज्यादा से ज्यादा परिवारों को पक्का मकान उपलब्ध कराने का लक्ष्य बनाया है।

PMAY-G के तहत आप दो लाख रुपये तक का होम लोन ले सकते हैं। इस योजना के तहत आप 6 लाख रुपये का लोन सालाना 6.5 फीसदी तक की ब्याज दर पर ले सकते हैं।

प्रधान मंत्री आवास योजना – ग्रामीण के लिए आवेदन करने का कोई तरीका नहीं है। लाभार्थियों को ग्राम सभा द्वारा तैयार की गई लिस्ट से चुना जाता है जो कि जनगणना 2011 (SECC 2011) पर आधारित होती है।