भारत के हर राज्य के विधायकों की सैलरी कितनी होती है? इन सभी बातों पर चर्चा करेंगे। देखते हैं विस्तार से।

इस समय भारत में सबसे अधिक सैलरी तेलंगाना के विधायकों को मिलती है। तेलंगाना देश का वो टॉप राज्‍य है जहां पर विधायकों की सैलरी और अलाउंसेज को मिलाकर प्रति माह 2.50 लाख रुपये सैलरी मिलती है।

तेलंगाना: 2.50 लाख, मध्यप्रदेश: 2.10 लाख, दिल्ली: 2.10 लाख, उत्तर प्रदेश: 1.87 लाख, महाराष्ट्रा: 1.70 लाख, जम्मू & कश्मीर: 1.60 लाख, उत्तराखंड: 1.60 लाख, आंध्रप्रदेश: 1.30 लाख, राजस्थान: 1.25 लाख।

हिमाचल प्रदेश: 1.25 लाख, गोवा: 1.17 लाख, हरियाणा: 1.15 लाख, पंजाब: 1.14 लाख, बिहार: 1.14 लाख, पश्चिम बंगाल: 1.13 लाख, झारखण्ड: 1.11 लाख, छतीसगढ़: 1.10 लाख, तमिलनाडु: 1.05 लाख, कर्नाटक: 98 हजार।

सिकिम्म: 86.5 हजार, केरल: 70 हजार, गुजरात: 65 हजार, ओडिशा: 62 हजार, मेघालय: 59 हजार, पुदुचेरी: 50 हजार, अरुणाचल प्रदेश: 49 हजार, मिजोरम: 47 हजार।

असम: 42 हजार, मणिपुर: 37 हजार, नागालैंड: 36 हजार, त्रिपुरा: 34 हजार। विश्‍व के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत में एक राज्य के विधायी निकाय को राज्य विधानसभा कहा जाता है।

विश्‍व के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत में एक राज्य के विधायी निकाय को राज्य विधानसभा कहा जाता है। वहीं राज्य विधानसभा द्वारा पारित कानून केवल उनके राज्य पर ही लागू होता है।